Interesting Facts about Himachal Pradesh in Hindi |Hp Gk In Hindi 2021

दोस्तों आपका हमारी वेबसाईट में स्वागत है| आज हमने अपने इस में लेख में Interesting facts about Himachal Pradesh in Hindi के बारे में जानकारी साझा की है| हिमाचल प्रदेश की आगामी आने वाली सभी प्रतियोगी परीक्षाओं की दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण है| इनका बार-बार अभ्यास करने से आपको वास्तिवक परीक्षा का अनुभव होगा|

Interesting Facts about Himachal Pradesh in Hindi

‘हिमाचल’ नाम आचार्य दिवाकर दत शर्मा ने सुझाया था, जो संस्कृत के विद्वान् थे| 

– पटियाला के महाराजा ‘कोहिस्तान’ राज्य बनाना चाहते थे, जिसमें पटियाला के क्षेत्रों: चंबा शिमला पहाड़ी राज्य सिरमौर, क्योंथल और नालागढ़ को विलय किया जाय| हालांकि यह प्रस्ताव अस्वीकार कर दिया गया| 

डॉ. परमार और उनके सहयोगी केंद्र सरकार द्वारा बिलासपुर रियासत की दिए गए वर्ग ‘ग’ के खिलाफ थे| 

– चीन की सीमा पर हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले का अंतिम भारतीय गाँव सुमदो है| 

Interesting Facts about Himachal Pradesh in Hindi
Interesting Facts about Himachal Pradesh in Hindi 

-हिमाचल प्रदेश के लाहौल-स्पीती जिले में अवस्थित ‘नीलकंठ महादेव झील’ में स्थानीय लोगों द्वारा महिलाओं की प्रविष्टि प्रतिबंधित है| 

– विक्रम सवंत के अनुसार श्रीखंड महादेव की यात्रा 20 आषाढ को शुरू होती है| 

– उना जिले के अंजोली नामक स्थान पर सरकारी पोल्ट्री फ़ार्म अवस्थित है| 

– लोक-विद्या के अनुसार हिमाचल प्रदेश के कुल्लू क्षेत्र को ‘रहने योग्य दुनिया का अंत’ कहा जाता है| 

– सिरमौर जिलें में ‘जलाल नदी’ के साथ ‘बाग़थन’ मानव निवास स्थान  है| 

– प्रत्यय ‘सिहं’ का इस्तेमाल करने वाला चंबा का पहला राजा प्रकाश सिहं था| 

‘गंभीर राय’ राजा जगत सिहं (नूरपुर) के राजकवि थे| 

‘शिंगनी-मींगी’ एक औषधीय पौधा है| 

‘मिंजर’ का शाब्दिक अर्थ है – मक्का का फूल| 

– डोडरा क्वार क्षेत्र शिमला जिले में अवस्थित है| 

– पद्मसम्भव का जन्म रिवालसर में हुआ था| 

– एसी मान्यता है की तांडी में पांडव रानी द्रौपदी का अंतिम संस्कार किया गया था| 

– सिखों के 10 वें गुरु (अंतिम गुरु) ,गुरु गोविंद सिहं जी धर्मशाला की कभी भी यात्रा नहीं की थी| 

– लाहोल-स्पीती जिले में ग्रहण (सूर्यग्रहण/चंद्रग्रहण) के समय लोग अपने पर पत्थर फेंकते है| 

– हिमाचल प्रदेश के सुचना के अधिकार नियम, 2006 के तहत 30 मिनट या इसके भाग के लिये अभिलेखों,दस्तावेजों के निरिक्षण के लिए शुल्क 20 रूपये है| 

– भागल रियासत के राणा दलीप सिहं ने अंग्रेजों को ‘कालका शिमला’ रेलवे लाईन और ‘सोलन-कसौली’ कैंटोमेंट के लिए जरूरी भूमि अंग्रेजों को दी थी| 

Hp Gk In Hindi 2021

ईस्वी सनमुख्य तथ्य
3000-2500 ई.पू.हिमाचल क्षेत्र से आर्यों का प्रथम संपर्क|
242 ई.पू.बौद्ध भिक्षुओं द्वारा हिमाचल क्षेत्र में बौद्ध धर्म प्रचार|
550 ई.मारूवर्मन द्वारा चंबा रियासत की स्थापना|
630 ई.बिलासपुर व् हन्डूर का युद्ध|
765 ई.वीरसेन द्वारा सुकेत राज्य की स्थापना|
900 ई.बुंदेलखंड के राजकुमार वीरचंद चंदेल एन कहलूर (बिलासपुर) राज्य स्थापित किया|
920 ई.साहिल वर्मन द्वारा शहर की स्थापना|
1000 ई.तोमर राजपूत जेठपाल द्वारा नूरपुर राज्य की स्थापना
1009 ई.महमूद गजनवी द्वारा कांगड़ा किले एवं ज्वालामुखी पर आक्रमण|
1100 ई.अजय चंद द्वारा नालागढ़ रियासत की स्थापना
1154 ई.अभोज देव द्वारा कुनिहार रियासत की स्थापना
1170 ई.गजनी के सुल्तान इब्राहीम ने जालंधर पर अधिकार कर लिया| राजकुमार पूर्णचंद ने जसवान राज्य की स्थापना की थी|
1192 ई.मुहमद गौरी व् पृथ्वीराज के मध्य हुए युद्ध में त्रिगर्त के शासक ने पृथ्वीराज चौहान की सैनिक सहायता दी थी|
1195 ई.शुभंश प्रकाश सिरमौर रियासत की स्थापना|
1210 ई.सिरमौर के राजा माल्ही प्रकाश ने अपना राज्य बनाया|
1211 ई.गिरी सेन द्वारा क्योंथल राज्य की स्थापना|
1300 ई.बाणसेन द्वारा सेन मंडी रियासत की स्थापना|
1365 ई.फिरोजशाह तुगलक कांगड़ा किले व् ज्वालामुखी पर हमला|
1399 ई.तैमुरलंग की पहाड़ी रियासतों को छोड़ कर भागना|
1450 ई.हरिचंद द्वारा गुलेर राज्य की स्थापना
1450 ई.शिवराम चंद द्वारा सिब्बा राज्य की स्थापना|
1526 ई.अजबर सेन द्वारा मंडी शहर की स्थापना|
1527 ई.राजा अजबर सेन ने मंडी राज्य की स्थापना कर मंडी को अपना राजधानी बना लिया|
1540 ई.शेरशाह शुरी ने अपने सेनापति खवासखां को नगरकोट तथा अन्य पहाड़ी राज्यों पर अधिकार करने हेतु भेजा|
1550 ई.दतार चंद्र द्वारा दतारपुर राज्य की स्थापना|
1550 ई.सिबरन चंद द्वारा डाडा सिब्बा रियासत की स्थापना|
1620 ई.मुगल बादशाह जहांगीर द्वारा कांगड़ा पर अधिकार|
1621 ई.कर्मप्रकाश द्वारा नाहन शहर की स्थापना|
1622 ई.सम्राट जहांगीर ने अपनी पत्नी नूरजहाँ के साथ नूरपुर की यात्रा की|
1654 ई.दीपचंद द्वारा बिलासपुर शहर की स्थापना|
1667 ई.जयचंद द्वारा ठियोग रियासत की स्थापना|
1686 ई.गुरु गोबिंद सिह और बिलासपुर के राजा भीमचंद के मघ्य भंगाणी की लड़ाई हुई जिसमें गुरु गोबिंद सिहं की विजय हुई|
1700 ई.हमीरचंद द्वारा हमीरपुर शहर की स्थापना|
1712 ई.गरुण सेन द्वारा सुंदरनगर की स्थापना
1748 ई.अभयचंद द्वारा सुजानपुर टीहरा शहर की स्थापना|
1783 ई.संसारचंद द्वारा मुगल सरदार सफी खां की मृत्यु के पश्चात कांगड़ा के किले पर अधिकार|
1786 ई.नरेशी शाहपूर का युद्ध
1805 ई.गोरखों का अमर सिहं थापा के नेतृत्व में कांगड़ा किले का घेरा|
1809 ई.संसारचंद व् महाराजा रणजीत सिहं के बीच ज्वालामुखी संधि| रणजीत सिहं का कांगड़ा पर अधिकार और देशा सिहं मजीठिया की नाजिम नियुक्त किया|
1814-15 ई.गोरखा-अंग्रेज युद्ध में अमर सिहं थापा की हार| शिमला हिल स्टेट्स के राज्यों पर अंग्रेजों का अधिपत्य हो गया|
1822 ई.मेजर कैनेडी द्वारा शिमला शहर की स्थापना|
1823 ई.राजा संसारचंद की मृत्यु|
1846 ई.गोरखा-सिख संधि|
1854 ई.लॉर्ड डलहौजी द्वारा डलहौजी शहर की स्थापना|
1857 ई.नसीरी बटालियन के सूबेदार भीम सिहं के नेतृत्व में जतोग विद्रोह|
1864 ई.शिमला स्थायी रूप से अंग्रेजों की ग्रीष्मकालीन राजधानी बनी|
1895 ई.चंबा रियासत के अत्याचारों के विरुद्ध ‘भटियात जनता विद्रोह’
1905 ई.बाघल में किसान विद्रोह
1906 ई.डोडरा क्वार में विद्रोह
1909 ई.मंडी के राजा व् वजीर पाधा जीवानंद के विरुद्ध ‘मंडी जनता विर्द्रोह’
1913-14 ई.‘मैकमोहन’ रेखा खीचने का निर्णय शिमला के लिया गया जिसमें अंग्रेज, चीन व् तिब्बत के प्रतिनिधि शामिल थे|
1921 ई.महात्मा गांधी पहली बार शिमला आए
1930 ई.डाडरा आन्दोलन (बिलासपुर में राजा के कर्मचारियों की धांधलियों के विरुद्ध)
1938 ई.शिमला हिल स्टेट हिमालयन रियासती प्रजामडंल की स्थापना
16 जुलाई, 1939 ई,हिमाचल का पहला ‘धामी गोली कांड’
1942 ई.सिरमौर रियासत में पझौता आंदोलन
8-10 मार्च, 1946मंडी कॉन्फ्रेंस
26 जनवरी, 1948हिमाचल प्रदेश में अस्थायी सरकार की स्थापना
26-28 जनवरी, 1948सोलन सम्मेलन
18 फरवरी, 1948सुकेत सत्याग्रह
15 अप्रैल, 1948हिमाचल प्रदेश का जन्म
1951 ई.हिमाचल प्रदेश की ‘ग’ श्रेणी का राज्य बनाया गया| बिलासपुर जिला को हिमाचल प्रदेश का पांचवा जिला बनाया गया|
1 नवंबर, 1956हिमाचल प्रदेश को केंद्रशासित प्रदेश बनाया गया|
15 अगस्त, 1957क्षेत्रीय परिषद की स्थापना, जिसके अनुसार ठाकुर कर्म सिहं अध्यक्ष चुने गये|
1 मई, 1960किन्नौर हिमाचल प्रदेश का 6 वां जिला बना|
1 जुलाई, 1966पंजाब के पुनर्गठन के बाद कांगड़ा, कुल्लू, शिमला, लाहौल-स्पीति, नालागढ़ के क्षेत्रों की हिमाचल में मिलाया गया|
1970 ई.हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय स्थापित
25 जनवरी, 1971विशाल हिमाचल का निर्माण तथा भारत का 18 वां पूर्ण राज्य बना|
1971 ई.हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायलय व् लोक सेवा आयोग का गठन
1 सितम्बर, 1972जिलों का पुनर्गठन हमीरपुर, सोलन व् उना जिलों का निर्माण
1978 ई.कृषि विश्वविद्यालय की स्थापना
1979 ई.प्रशासनिक सुविधा को ध्यान में रखते हुए हिमाचल प्रदेश को दो खंडों में कांगड़ा तथा शिमला में बांटा गया|
2 मई, 1981हिमाचल प्रदेश के पथम मुख्यमंत्री यशवंत सिहं परमार का निधन
1983 ई.हिमाचल प्रदेश में लोकायुक्त का पद सृजित किया गया|
1983 ई.“हिमाचल प्रदेश प्रशासनिक अधिकरण” सविंधान की धारा 323 (अ) के अंर्तगत संसद ने वर्ष 1985 में प्रशासनिक अधिकरण, 1985 पारित किया|
1985डॉ. यशवंत सिहं परमार उद्यान एवं वानिकी विश्वविद्यालय, नौणी (सोलन) की स्थापना|
1998“हिमाचल प्रदेश अधीनस्थ सेवाएं चयन बोर्ड, हमीरपुर” की स्थापना|
2001“सुचना प्रौद्योगिकी निति” औपचारिक रूप से शुरू की गई|
2011‘एंटी हेल गन प्रणाली’ स्थापित करने वाला हिमाचल प्रदेश का प्रथम राज्य बना|

study4upoint

Hello दोस्तों मेरा नाम तापेंदर ठाकुर है। मैं हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय से स्नातक Post Graduate हूँ। मैं एक ब्लॉगर और यूट्यूबर हूँ। इस वेबसाइट के माध्यम से आपको प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने में सहायता मिलेगी | आप सबका मेरी वेबसाइट में आने का बहुत धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published.