November 29, 2022

Imporant Famous Lake in Uttarakhand in hindi – 52 Lakes in Uttarakhand

Imporant Famous Lake in Uttarakhand in hindi

नमस्कार दोस्तों आपका हमारी website में स्वागत है| आज हमने अपने इस आर्टिकल में Imporant Famous Lake in Uttarakhand in hindi के बारे में जानकारी साझा की है| जो आपके सामान्य ज्ञान को बढ़ाने का एक प्रयास है| यह जानकारी आपके आने वाली प्रतियोगी परिक्षाओं के दृष्टिकोण से काफी महत्वपूर्ण साबित हो सकती है| इसमें हम उत्तराखंड की प्रमुख झीलें  से सबंधित जरूरी जानकारी आपके साथ shere करेंगे| 

उत्तराखंड के गढ़वाल क्षेत्र के प्रमुख ताल एवं झीलें :- उत्तराखंड के गढ़वाल क्षेत्र के उत्तराखंड झीलें प्रमुख ताल एवं झीलें इस प्रकार है:-

 

उत्तराखंड की प्रमुख झीलें 

महासरताल 

महासरताल टिहरी गढवाल जिलें में स्थित है| यह झील हो दो कटोरे जैसी आकृति से निर्मित है| महासर ताल को भाई बहन का ताल भी कहते है| 

 


सहस्त्र ताल 

सहस्त्र ताल टिहरी गढवाल जिलें में स्थित गढवाल क्षेत्र का सबसे बड़ा व् गहरा ताल है| तथा पर्यटन के हिसाब से देखा जाए तो यह ताल पर्यटन के लिए काफी अच्छा स्थान है| 

 

यमताल 

यह ताल टिहरी गढवाल जिलें में स्थित है| यह हमेशा वर्फ से ढका रहता है| 

 

बासुकीताल 

यह ताल टिहरी गढवाल जिलें में स्थित है| 

इस ताल का पानी लाल रंग का होता है| 

यह ताल नीलें रंग के कमल के लिए काफी प्रसिद्ध ताल है| 

 

 

मंसूरताल 

यह ताल टिहरी गढवाल जिलें में खतलिंग ग्लेशियर के समीप स्थित है| 

इस ताल से दूध गंगा निकलती है| 

 

रूपकुंड 

रूपकुंड चमोली जिले में बेदिनी बुग्याल के निकट स्थित है| 

ईएसआई मान्यता है की ताल का निर्माण शिव पार्वती ने कैलाश जाते समय किया था| 

इस ताल के समीप नर कंकाल प्राप्त होते है इसलिए इसे कंकाली ताल भी कहा जाता है| 

यह माना जाता है की कंकाल यहाँ के राजा यशधवल और राणी ब्ल्पा और उनके सैनिकों के है| 

अप्सराताल 

यह ताल टिहरी के समीप स्थित है इसे अछरी ताल भी कहा जाता है| 

 

होमकुंड 

होमकुंड झील रूपकुंड से 17 किलोमीटर दुरी पर चमोली जिले में है| 

 

हेमकुंड 

-हेमकुंड चमेली जिले में स्थित है| 

-इस झील के किनारे सिखों के दसवें गुरु गोविंद सिंह ने तपस्या की थी इसके किनारे एक प्रसिद्ध गुरुद्वारा हेमकुंड साहिब है|

-हेमकुंड झील को लोकपाल झील भी कहा जाता है|

-हेमकुंड से अलकनंदा की सहायक नदी लक्ष्मण गंगा का निकलती है|

 

सतोपंथ ताल 

सतोपंथ ताल चमोली जिले में है| 

 

शरवदी ताल 

यह ताल रुद्रप्रयाग जिले में स्थित है

इस ताल को गांधी सरोवर भी कहा जाता है| 1948 में यहां महात्मा गांधी की अस्थियां प्रवाहित की गई थी| 

शरवदी ताल को चौरा बाड़ी ताल भी कहा जाता है| 

 

लिंगाताल 

लिंगाताल चमोली जिले की घटी के बीच में है| 

बेनिताल 

यह ताल चमोली जिले में है| इसके निकट नंदा देवी मंदिर है| 

फांचकंडी ताल 

यह ताल उतरकाशी जिले में है| इसका जल उबलता हुआ है| 

भेंक ताल 

यह ताल रुद्रप्रयाग जिलें में है| इसका आकार अंडाकार है| 

 

इन सभी तालों के अलावा गढ़वाल क्षेत्र के कुछ और ताल निम्नलिखित है-

मात्रिका ताल – चमोली 

नरसिहं ताल – चमोली 

सिद्ध ताल – चमोली 

नचिकेता ताल – उतरकाशी 

डोडिताल -उतरकाशी 

केदारताल – उतरकाशी 

सरताल – उतरकाशी 

रोहीताल साडाताल – उतरकाशी 

भराडसर ताल – उतरकाशी 

खीडा ताल – उतरकाशी 

देवरिया ताल – रुद्रप्रयाग 

बदानी ताल – रुद्रप्रयाग 

गोहना ताल – रुद्रप्रयाग 

झल ताल – चमोली 

सुख ताल – चमोली 

बिष्णुताल – चमोली 

सुख ताल – चमोली 

विष्णुताल – चमोली 

बेनिताल – चमोली 

विरही ताल – चमोली 

तारकुंड – चमोली 

दुग्ध ताल – पौड़ी गढवाल 

भिलंग ताल – टिहरी गढवाल 


और पढ़ें – उतराखंड के कुमाऊ क्षेत्र की झीलें  

study4upoint

Hello दोस्तों मेरा नाम तापेंदर ठाकुर है। मैं हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय से Post Graduate हूँ। मैं एक ब्लॉगर और यूट्यूबर हूँ। इस वेबसाइट के माध्यम से आपको प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने में सहायता मिलेगी | आप सबका मेरी वेबसाइट में आने का बहुत धन्यवाद।

View all posts by study4upoint →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *