January 31, 2023

Human Body Diseases Gk notes in hindi-मानव के मुख्य रोग

मलेरिया

प्लाजोडियम मलेरी नामक प्रोटोजोआ इसका कारण है| यह मादा एनाफ्लिज मच्छर से फैलता है| इस रोग में रोगी को ठंड लगकर तेज बुखार आता है| तेज सिर दर्द के साथ उलटी होती है| पसीना आने के बाद बुखार इर दर्द कम हो जाता है|

मच्छरों की रोकथाम के लिए डी.डी.टी. का छिडकाव किया जाना चाहिए| रात को मच्छरदानी में सोना चाहिए| इन उपायों से रोग से बचा जा सकता है| कुनैन की गोली इसका इलाज है|

खसरा

यह संक्रमित रोग है जिसमे बुखार, आँखों का लाल हो जाना, लाल-लाल दाने निकलना है| यह वायरस जनित रोग है| आँख नाक और गले में संक्रमण हो जाता है|

प्लेग

इसका पेस्टयुरेला प्रेस्टिल नामक बैक्टीरिया है| यह रोग चूहे से आदमी में फैलता है| तेज बुखार, उल्टी, गर्म सूखी त्वचा प्यास लगना तथा त्वचा पर काले धब्बे का बनना, लिम्फ ग्रंथि का फूल जाना इसके लक्षण है| इसका इलाज सल्फा ड्रग्स और स्ट्रेपटोमयिसिन है| 

पोलियो 

पोलियो या पोलियोमा लाइटटिस इससे संक्रामक रोग है, जो विषाणु के कारण होता है| यह वायरस या विषाणु आंतों में वृद्धि करता है और तब वह शरीर के अन्य भागों में फैलता है| जिससे हल्के फ्लू के समान लक्षण वाली अवस्था होती है| पोलियो के वायरस गले व् मल में होते हैं| यह वायरस सुषुम्ना तंत्र में पहुंच जाता है और तंत्रिका कोशिकाओं को प्रभावित कर जीवन भर के लिए रोगी को लकवा ग्रस्त कर सकता है|

पायेरिया 

पायरिया मसूड़ों में संक्रमण से दांतो की सफाई करते समय खून निकलने लगता है| पेंनसिलन इन लोजेंस या विटामिन सी की गोली उपचार में सहायक होती है| लेकिन पूरा उपचार रोग के कारण पर निर्भर करता है| अतः दंत चिकित्सक की सलाह जरूरी होती है|

हाइड्रोफोबिया

रेबीज वायरस का कारक है| यह पागल कुत्ते के काटने से होता है| इससे तंत्रिका तंत्र प्रभावित होता है| रोग से सिर दर्द, नकसीर, उल्टी, बुखार, अनिद्रा, जल से भय लगना अपंगता और मृत्यु हो सकती है| इस रोग के टीके उपलब्ध है|इसकी रोकथाम के लिए कटी जगह को गर्म पानी से तुरंत साफ करना चाहिए| 

रिकेट्स (सुखा रोग)

यह छ:  से 15 महीने के शिशु में होने वाली हड्डी की बीमारी है| यह ज्यादातर प्राकृतिक आहार ना करने वाले बच्चों को विटामिन ए तथा विटामिन डी की कमी से होता है| पैर और हाथ की हड्डियां सूखने लगती है, और पेट का आकार बढ़ जाता है, बच्चा कमजोर और अविकसित हो जाता है| धूप का सेवन ना करने से यह ज्यादातर होता है| 

स्कर्वी 

यह यह रोग विटामिन सी की कमी से होता है इसका उपचार फल और संपूर्ण है| ज्यादातर खट्टे फलों का सेवन करने से यह रोग दूर होता है| विटामिन सी का सबसे अच्छा स्रोत आंवला है|  आंवला में विटामिन सी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है| 

चेचक (स्माल पॉक्स)

सभी उम्र के लोगों को वैरीयोला वायरस से रोगी के सीधे संपर्क में आने तथा संक्रमित वस्तुओं से होता है| रोगी को तेज बुखार सिर्फ और बदन दर्द त्वचा पर लाल धब्बे बाद में फफोला हो जाता है| त्वचा पर गड्ढे का निशान बन जाता है|

रोकथाम: टिका, रोगी को अलग रखना, रोगी के विस्तर तथा कपड़े को साफ़ सुथरा रखना, रोगी के साथ नही घुलना मिलना|

टिटनेस 

यह रोग क्लोसट्र्रीडीयम टिटेनी नामक बैक्टीरिया द्वारा होता है| बैक्टीरिया मिटटी में रहता है| तथा घाव एव कते स्थान से शरीर से शरीर में प्रवेश करता है| इलाज पेंनसलिन का टिका| बचाव: कटने की स्थिति में तुरंत एटीसरिम इजेंक्शन लेना चाहिए|

study4upoint

Hello दोस्तों मेरा नाम तापेंदर ठाकुर है। मैं हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय से Post Graduate हूँ। मैं एक ब्लॉगर और यूट्यूबर हूँ। इस वेबसाइट के माध्यम से आपको प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने में सहायता मिलेगी | आप सबका मेरी वेबसाइट में आने का बहुत धन्यवाद।

View all posts by study4upoint →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *