January 31, 2023

Bilaspur History In Hindi-बिलासपुर हिमाचल प्रदेश-Bilaspur gk in hindi

(11) अजमेर (1712-41 ई.) अजमेर ने हन्डूर की सीमा पर ‘अजमेरगढ़’ किला बनवाया|

(12) देवीचंद (1741-78 ई.) राजा देवीचंद ने हन्डूर रियासत के राजा मानचंद और उसके पुत्र की मृत्यु के बाद जनता के आग्रह पर स्वयं गद्दी पर न बैठकर गजे सिहं हन्डूरिया को राजा बनाया| देवीचंद ने 1751 ई. में घमंडचंद की युद्ध में सहायता की थी| देवीचंद नादिरशाह का समकालीन था| देवीचंद ने हन्डूर के राजा विजय सिहं को रामगढ़ दुर्ग दे दिया था|

(13) महानचंद (1778-1824 ई.) बिलासपुर पर सबसे लम्बी अवधि तक (46 वर्षों) महानचंद ने शासन किया| बिलासपुर के राजा महानचंद के नाबालिक होने होने के समय रामू वजीर ने प्रशासन नियंत्रण रखा| रामू वजीर की 1783 ई.में मृत्यु होने के बाद 1790 ई. तक 12 ठकुराईयों ने स्वतंत्रता प्राप्त कर ली| संसारचंद ने 1785 ई. में बिलासपुर पर आक्रमण किया जिसमें सिरमौर के राजा धर्म प्रकाश की मृत्यु हो गयी| संसारचंद ने बिलासपुर के झंझियार धार पर छातीपुर किले का निर्माण करवाया| बिलासपुर के राजा महानचंद ने 1803 ई. में गोरखों के सहयोग माँगा जिसके बाद 1805 ई. में गोरखों ने संसारचंद को पराजित किया| बिलासपुर 1803 ई. से 1814 ई.तक गोरखों के अधीन रहा| ब्रिटिश जनरल डेविड ओक्ट्र्नोली में अमर सिहं थापा (गोरखा कमांडर) को बिलासपुर के रतनपुर किले पराजित किया था| बिलासपुर 6 मार्च, 1815 ई. को ब्रिटिश सरकार के अधीन आ गया| 1819 ई. में देसा सिहं मजीठिया ने बिलासपुर आक्रमण किया|

(14) खडक चंद (1824-1839 ई.) खडक चंद के शासनकाल को बिलासपुर रियासत के इतिहास में काला युग के नाम से जाना जाता है| खडक चंद को गद्दी से हटा उसके चाचा जगत सिहं गद्दी पर बैठे|

(15) हीराचंद (1857-1882 ई.) हिराचंद ने 1857 ई. विद्रोह में अंग्रेजो की सहायता की| हिराचंद के शासनकाल को बिलासपुर रियासत के इतिहास में स्वर्णकाल के नाम से जाना जाता है| मियां भंगी पुरंगनिया हिराचंद के समय बिलासपुर रियासत के वजीर थे| हीराचंद ने 1874 ई. के जगतखाना और स्वारघाट के टैंक का निर्माण करवाया था| हिराचंद ने सर्वप्रथम बिलासपुर में भू-राजस्व सुधार किये| हिराचंद की 1882 ई. में महोली नामक स्थान मृत्यु हो गई|

(16) अमरचंद (1883-1888 ई.) अमरचंद के शासन काल में बिलासपुर के गेहवड़ी में झुग्ग आंदोलन हुआ| अमरचंद ने 1885 ई. रियासत के अभिलेख देवनागरी लिपि में रखने व् कामकाज देवनागरी लिपि में करने के आदेश पारित किये|

(17) विजय चंद (1888-1928 ई.) विजयचदं ने बिलासपुर में रंगमहल का निर्माण करवाया| विजय चंद ने कोर्ट फीस ज्युडिशियल स्टॉम्प शुरू करने के अलावा बिलासपुर शहर में पानी की सप्लाई शुरू करवाई| बहादुरपुर को उन्होंने अपनी ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाया| उनके शासनकाल में (1903 में) अमर सिहं वजीर थे| प्रथम विश्व युद्ध (1914-18) में विजयचंद ने अंग्रेजों का साथ दिया|

(18) आनंदचंद (1928-1948 ई.) आनंदचंद महात्मा गांधी के शिष्य थे| आनंदचंद बिलासपुर रियासत के अंतिम शासक थे| बिलासपुर को भारत में विलय का वह विरोध करते थे और स्वतंत्र अस्तित्व के पक्षधर थे| बिलासपुर को 9 अक्टूबर, 1948 को ‘ग’ श्रेणी का राज्य और 12 अक्टूबर, 1948 को आनंदचंद को बिलासपुर का पहला मुख्य आयुक्त बनाया गया| उनके बाद 2 अप्रैल 1949 को श्रीचंद छाबड़ा बिलासपुर के दुसरे मुख्य आयुक्त बने| बिलासपुर को 1 जुलाई, 1954 को हिमाचल प्रदेश में 5 वें जिले के रूप में विलय कर दिया गया| राजा आनंदचंद लोकसभा में निर्वरोध चुने गये| वह 1957 ई. हिमाचल प्रदेश तथा 1964 ई. बिहार से राज्यसभा के लिए चूने गये|

study4upoint

Hello दोस्तों मेरा नाम तापेंदर ठाकुर है। मैं हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय से Post Graduate हूँ। मैं एक ब्लॉगर और यूट्यूबर हूँ। इस वेबसाइट के माध्यम से आपको प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने में सहायता मिलेगी | आप सबका मेरी वेबसाइट में आने का बहुत धन्यवाद।

View all posts by study4upoint →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *