November 29, 2022

बिहार का भूगोल सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में – Bihar Ka Bhugol in hindi

Bihar Ka Bhugol in hindi

दोस्तों आपका हमारी वेबसाईट में स्वागत है| आज हमने अपने इस लेख में Bihar Ka Bhugol in hindi के बारे में जानकारी साझा की है| बिहार लोक सेवा आयोग की परीक्षाओं में 15-20 प्रश्न बिहार से सबंधित आते है| आज हमने इस आर्टिकल में बिहार का भूगोल सम्पूर्ण जानकारी तथा मुख्य तथ्य के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी साझा की है|

इन्हें भी पढ़ें :- बिहार का आधुनिक इतिहास

  • अक्षांशीय विस्तार – 24° 20’ 10′′ से 27°  31′ 15′′ उतरी अक्षांस 

-देशांतरीय विस्तार – 83° 19′ 50′′ से 88°  17′ 40′′ पूर्वी देशांतर 

– आकृति – आयतकार 

– क्षेत्रफल – 94163 वर्ग किमी 

-लंबाई (उतर से दक्षिण) – 345 कि.मी.

-चौडाई (पूर्व से पश्चिम) –  483 कि.मी.

-औसत ऊँचाई समुद्र तट से- 52.73 कि.मी.

– सीमाएं – उतर में नेपाल )7 जिलों से सीमा बनाती है), दक्षिण में झारखंड (9 जिलों से), पूर्व में पश्चिम बंगाल (3 जिलों से), पश्चिम में उतर प्रदेश (7 जिलों से)   

-बिहार की जलवायु – मानसूनी 

– औसत वर्षा – 112 से.मी.

Bihar Ka Bhugol in hindi
Bihar Ka Bhugol in hindi

– शुद्ध बोया गया क्षेत्र – 56,94,642 हेक्टेयर, 60.48 प्रतिशत 

– गैर कृषि कार्यों में लगी भूमि – 16,35, 467 हेक्टेयर (17.37 प्रतिशत) 

– उसर या गैर कृषि योग्य भूमि – 4,36,503 हेक्टेयर (4.64 प्रतिशत) 

– स्थायी चारागाह – 18,356 हेक्टेयर (0.19 प्रतिशत) 

– वीविध पेड़ व् बगीचा – 2,30,286 हेक्टेयर (2.45 प्रतिशत) 

– बाढ़ प्रभावित क्षेत्र – 64.41 लाख हेक्टेयर

बिहार की सरंचना व् उनका विस्तार 

– धारवाड़ चट्टान – गया, नवादा, जुमई, मुंगेर, बांका 

– विंध्यन समूह की चट्टानें – कैमूर, रोहतास 

– टर्शीयरी चट्टानें – पश्चमी चम्पारण 

– क्वार्टरनरी काल की चट्टानें – गंगा की मैदानी भागों में 

बिहार वन 

– कुल भगौलिक क्षेत्र – 94,163 sq km 

– कुल वन क्षेत्र – 7,288  sq km 

– वन का क्षेत्रफल प्रतिशत में – 7.74%

– अति सघन वन क्षेत्र – 248 sq km 

– राज्य में सरंक्षित वन क्षेत्र  – 3208.47 sq km 

– राज्य में गैर सरंक्षित वन क्षेत्र – 76.3 sq km 

– राष्ट्रिय पार्क – 1 वाल्मीकि नगर 

– वन्य जीव अभ्यारण – 11 

– ‘बिहार‘ में सर्वाधिक वन क्षेत्र वाले जिले – कैमूर और पश्चिम चम्पारण 

– ‘बिहार’ में न्यूनतम वन ‘क्षेत्र वाले’ जिले – शिवहर और शेखपूरा 

– वनों के प्रकार (बिहार) – आर्द्र पर्णपाती एवं शुष्क पर्णपाती वन

– आर्द्र पर्णपाती वन के क्षेत्र – शीशम,शेलम,शाल, खैर 

– शुष्क पर्णपाती वन के वृक्ष  – महुआ ,आम, कटहल, जामुन 

बिहार के प्रमुख अभ्यारण व् सबंधित जिले 

– वाल्मीकि नगर राष्ट्रीय उद्यान –  पश्चिम चंपारण

– बाल्मीकि आश्रयणी –  पश्चिम चंपारण 

– गौतम बुध अभ्यारण –  गया

–  भीम बांध अभ्यारण – मुंगेर

–  विक्रमशिला गंगा डॉल्फिन अभ्यारण – भागलपुर

–  कैमूर अभ्यारण – रोहतास (बिहार का सबसे बड़ा अभ्यारण)

–  पंत अभ्यारण – नालंदा

–  परमार डॉल्फिन अभ्यारण – अररिया

–  कावर पक्षी विहार – बेगूसराय

–  कुशेश्वर पक्षी विहार – दरभंगा 

–  गोगाबिल पक्षी विहार-  कटिहार

– नागी डैम व् नकटी डैम पक्षी विहार – जमुई

– सुहियान पक्षी विहार – भोजपुर 

– संजय गांधी जैविक उद्यान – पटना

–  हरिया बारा हिरण पार्क – अररिया

बिहार में सिंचाई 

– कुल सिंचित क्षेत्र – 45,50,244 हेक्टेयर 

– सिंचित क्षेत्र (प्रतिशत में) – 48.33% 

– सिंचाईं के मुख्य स्रोत – नलकूपम नहरें, तालाब, कुआं, जलमग्न गड्ढे 

– नलकूप द्वारा सिंचित भूमि का प्रतिशत – 55.4%

– नहर द्वारा सिंचित भूमि का प्रतिशत – 34% 

– तालाब द्वारा सिंचित भूमि का प्रतिशत – 3.2% 

– कुएं द्वारा सिंचित भूमि का प्रतिशत – 6.5% 

– वृहद सिंचाई परियोजना की सिंचाई क्षमता – 10,000 हेक्टेयर से अधिक (कमांड क्षेत्र) 

– मध्यम सिंचाई परियोजना की सिचाईं क्षमता – 2000 से 10000 हेक्टेयर 

बिहार की प्रमुख नदियाँ व् उनके उदगम स्थल 

– गंगा – गंगोत्री 

– घाघरा या सरयू – मचपाचुंग (तिब्बत) 

– गंडक – सप्तगंडकी (नेपाल) 

– बूढी गंडक  – सोमेश्वर श्रेणी 

– बागमती – महाभारत श्रेणी (नेपाल) 

– कमला – महाभारत श्रेणी (नेपाल) 

– कोसी – सप्तकौशिकी (नेपाल) 

– महानंदा  – म्क्लादीयाराम, दार्जलिंग 

– कर्मनाशा – विंध्यांचल पहाड़ी 

– सोन – अमरकंटक 

– पुनपुन – चोरहा पहाड़ी, पलामू 

– फल्गु – हजारीबाद पठार 

– पंचानेन – उतरी छोटानागपुर 

– सकरी – उतरी छोटानागपुर 

– अजय – बटपाड, चकाई, जमुई

बिहार के जलप्रपात

जलप्रपातनदी ऊँचाई स्थिति 
दुर्गावती जलप्रपात
ककोलत  


तमासीन जलप्रपात 

धुंआ कुंड जलप्रपात 
दुर्गावती नदी 
कर्मनाशा 

महाने नदी

काओं नदी 
    300 (रोहतास)
     160 

      50 

       –
काकोलत पठार  नवादा
बिहार झारखंड की सीमा पर 

तारचंडी  

बिहार की प्रमुख नदियाँ व् उनके उदगम स्थल 

– सप्तधारा या सतघरवा  – राजगीर 

– ब्रह्मकुंड  – राजगीर 

– सूर्यकुंड  –राजगीर 

– नानक कुंड  – राजगीर 

– मख दम कुंड  – राजगीर 

– गोमुख कुंड – राजगीर 

– लक्ष्मण कुंड – मुंगेर 

– सीता कुंड – मुंगेर 

– रामेश्वर कुंड – मुंगेर 

– ऋषि कुंड – मुगेर 

– श्रृंगार ऋषि कुंड – मुंगेर 

– भरारी कुंड – मुंगेर 

– अग्नि कुंड – गया

study4upoint

Hello दोस्तों मेरा नाम तापेंदर ठाकुर है। मैं हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय से Post Graduate हूँ। मैं एक ब्लॉगर और यूट्यूबर हूँ। इस वेबसाइट के माध्यम से आपको प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने में सहायता मिलेगी | आप सबका मेरी वेबसाइट में आने का बहुत धन्यवाद।

View all posts by study4upoint →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *